बुधवार, 13 जुलाई 2016

हाफिज के इंटरव्यू के पीछे का सच







पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज सईद ने भारतीय पत्रकार वैदिक से मुलाकात पर हो रहे हंगामे को लेकर भारत के खिलाफ...http://navbharattimes.indi/..

अनामी शरण बबल


आतंकवादी से बार्ता को लेकर हंगामा है पर दोस्तों यह मोदी बीजेपी और पाकिस्तान सरकार की मिलीबगत से मोदी के पाक दौरे का प्लेटरफार्म तैयार किया जा रहा है... भारत के वाचाल मोदी पीेम बनते ही मौनमोहन के पथगामी बन गए और पाक में जाकर शांति का संदेश देने को आतुर मोदी के लिे ही पर्दे के पीछे यात्रा की रूपरेखा बन रही है. । वेद प्रताप वैदिक ेक पत्रकार रहै नहीं पत्रकार हैं पर इतना भी तेजतर्रार नहीं रहे है कि 24 घंटे में आसमान को फोड़ दे । यह तो सही है कि वे पाक गए ते मगर इस शिष्टमंडलीय यात्रा में किसको फुर्सत है कि वो किसी आतंकी से इंटरव्यू कर ले.। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज सईद पाकिस्तान मे किसी चूहे का नाम नहीं है कि बाजार गे और एक चूहेदानी खरीदकर फट से कब्जे में कर लिया। या वैदिक इतने बड़े तुर्रमखान नहीं है मित्रों कि ेक आतंकी से वे पाकिस्तान में जाकर इंटरव्यू कर लाए। मगर मोदी को पाकिस्तान का दौरा कराना भारत से भी ज्यादा पाक के लिए बेहतर होगा . नवाज शरीफ साहब मोदी की यात्रा के लिए शरीफा की तरह शरीफ बन गए है। इस दौरा से मोदी समेत शरीफ साहब को भी लाभ ही लाभ है. लिहाजा संबंधों को सुधारने की दुहाई देकर हाफिज सईद से सपाई दिलाकर माहौल को मोदी के लायक बनाया जा रहा है. मोदी सरकार और बीजेपी से करीबी नाता रखने वाले वैदिक साहब को खाककर एक शिष्टमंडल के साथ भेजा गया और बाकायदा पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित इस इंटरव्यू को एक्सक्लपसिव की तरह पेश कर पूरा हंगामा भी इडियट बॉक्स पर किया और कराया जा रहा है ताकि लोगों के मन में पाक के प्रति धारणा बदले. । मोदी और नवाज शरीफ के इस शराफत भरे खेल में शांति की चाहत किसी को नहीं है , मोदी पाक के सामने संबंध सुधारने की दलील देकर चूहा बनने में भी गूरेज नहीं की । मोदी के मन में शांति नोबल पाने का सपना कुलांचे मार रहा है । मगर मोदी जी देश को अपने घर की जागिर मान कर ना चले , यह आपके हसरतों का कत्लगाह भी बन सकता है जिसमें नोबल पाने का सपना बेदम हो जाएगा. जनाब भारत के हसीन सपनों को पूरा करने के लिए वैदिक को सारथी और शरीप को गाइड बनाकर यात्रा शुरू की तो मोदी जी को खुदा ही बचा सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें